44 लाख रूपये की आर्थिक सहायता भानपुरी, बड़ेघोड़सोड़ा, बड़ेकनेरा, कारसिंग, धनसूली, टेमरूगांव, माकड़ी, हाराडुला, खैराखैड़ा, पिसौद, लछनपुर

आपदा पीड़ितों को 11 प्रकरणों में 44 लाख रूपये की आर्थिक सहायता
रायपुर 22 जुलाई 2021: छत्तीसगढ़ शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा विभिन्न प्राकृतिक आपदा से पीड़ितों को जिला कलेक्टर के माध्यम से आर्थिक अनुदान सहायता स्वीकृत की जाती है। कोंडागांव, कांकेर और जांजगीर-चांपा जिले में प्राकृतिक आपदा पीड़ितों के 11 प्रकरणों में 44 लाख रूपये की आर्थिक सहायता स्वीकृत की गई है।

छत्तीसगढ़ के शहीद सेना अधिकारियों और सैनिकों की विधवा, आश्रितों, परिजनों को 20 लाख रुपये एक्सग्रेसिया राशि प्रस्ताव

रायपुर : गृह मंत्री की पहल पर युद्ध अथवा सैन्य कार्यवाही में छत्तीसगढ़ के शहीद सेना अधिकारियों और सैनिकों की विधवा, आश्रितों, परिजनों को 10 लाख के स्थान पर 20 लाख रुपये एक्सग्रेसिया राशि स्वीकृति किए जाने हेतु प्रस्ताव तैयार
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की मंशानुरूप अग्रिम कार्यवाही हेतु वित्त विभाग को भेजा गया प्रस्ताव

गरियाबंद : प्राकृतिक आपदा से मृत्यु के एक प्रकरण में 4 लाख रूपये की सहायता राशि स्वीकृत: कलेक्टर छतर सिंह डेहरे

गरियाबंद 26 जून 2020 कलेक्टर छतर सिंह डेहरे ने प्राकृतिक आपदा से मृत्यु के एक प्रकरण में राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 के तहत मृतक के परिजन को 4 लाख रुपये की आर्थिक सहायता राशि स्वीकृत की है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार गरियाबंद जिले के राजिम तहसील अंतर्गत ग्राम भसेरा निवासी 40 वर्षीय नोहरराम का आकाशीय बिजली गिरने से मृत्यु हो जाने पर इस प्रकरण में पीड़िता उनकी पत्नी श्रीमती रेवती बाई साहू को राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 के तहत 4 लाख रुपये की सहायता राशि स्वीकृत की गई है।

बस्तर जगदलपुर महारानी अस्पताल न्यूज़ चित्र: कायाकल्प, रूद्र गुरू स्वेच्छानुदान, 16 लाख आर्थिक सहायता एवं एकरूपए में घर-पहुँच पौधे

जगदलपुर : लोगों को सुलभ स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने का प्रमुख केन्द्र बना महारानी अस्पताल : सर्वसुविधायुक्त भवन, विशेषज्ञ चिकित्सकों की नियुक्ति तथा जरूरी सामाग्रियों की उपलब्धता से अस्पताल का हुआ कायाकल्प

उत्तर बस्तर कांकेर : चार लाख रूपये की आर्थिक सहायता राशि स्वीकृत

उत्तर बस्तर कांकेर 17 जून 2020 राजस्व पुस्तक परिपत्र खण्ड 6-4 में दिये गये अधिकारों का प्रयोग करते हुए कलेक्टर के.एल. चौहान ने सर्प काटने से मृत्यु के प्रकरण में चार लाख रूपये की आर्थिक सहायता स्वीकृत किये हैं।
पखांजूर तहसील के पी.व्ही 99 गौतमपुर निवासी 09 वर्षीय रमा सिकदार की सर्प काटने से मृत्यु होने के प्रकरण में उनके माता-पिता राखाल सिकदार और लक्ष्मी सिकदार के लिए चार लाख रूपये की आर्थिक सहायता राशि स्वीकृत किए हैं। स्वीकृत सहायता राशि का भुगतान तहसीलदार पखांजूर के माध्यम से किया जाएगा।  

नारायणपुर : 4 लाख रूपये की आर्थिक सहायता, आंगनबाड़ी कार्यकता, सहायिका एवं मिनी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पद पर भर्ती  हेतु 24 जून तक आवेदन पत्र आमंत्रित 

नारायणपुर 16 जून 2020  कलेक्टर अभिजीत सिंह ने प्राकृतिक आपदाओं से हुई दुर्घटनाओं के कारण पीड़ित परिवारों को पात्रतानुसार आर्थिक सहायता प्रदान करते हुए 4 लाख रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान करने की मंजूरी दी है। कुमारी निवेदिता पिता श्री सुनील कंागे की मृत्यु पानी में डूबने के कारण हुई थी। कलेक्टर ने उक्त राशि आवेदक को बैंक ड्राफ्ट अथवा चेक के माध्यम से 1 सप्ताह में भुगतान करने के निर्देश तहसीलदार नारायणपुर को दिये हैं।

नारायणपुर : आंगनबाड़ी कार्यकता, सहायिका एवं मिनी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पद पर भर्ती  हेतु 24 जून तक आवेदन पत्र आमंत्रित 

बेमेतरा : ‘‘बाल विवाह होने से पहले बाल विवाह रोकवाया गया‘‘, आर्थिक सहायता राशि स्वीकृत, अल्पसंख्यक आयोग की बैठक 18 जून को

बेमेतरा 16 जून 2020  बेमेतरा जिले के नवागढ़ विकासखण्ड के अंतर्गत ग्राम जोगीपुर थाना नवागढ़ के एक परिवार में नाबालिग बालिका का विवाह किये जाने की सूचना पर जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी सह बाल विवाह प्रतिषेध अधिकारी रमाकांत चंद्राकर के निर्देश पर जिला बाल संरक्षण अधिकारी व्योम श्रीवास्तव के मार्गदर्शन में विभाग की पर्यवेक्षक श्रीमती रेखा दिवान, सुरेन्द्र साहू, आउटरीच वर्कर राजू प्रसाद शर्मा, चाईल्ड लाईन बेमेतरा से केन्द्र समन्वयक दशोदी सिंह, विनोद राजपूत एवं शैलेजा गेण्डेª, पुलिस विभाग थाना नवागढ़ श्री केशव कुमार व सी0आर0टेम्बुलकर, एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, स्थानीय जनप्रतिनिधि व प्रबुद्ध नागरी

पानी में डुबने से हुई मृत्यु के लिए उनके परिजनों के लिए क्रमशः 4-4 लाख रूपए की आर्थिक सहायता

दुर्ग : मृतक के परिजनों के लिए अर्थिक सहायता
 

दुर्ग 15 जून 2020  प्राकृतिक आपदा से मृत्यु हो जाने पर मृतक के परिजनों के लिए आर्थिक सहायता राशि स्वीकृत की गई है। इनमें स्व. तरूण कुमार 23 नवबंर 2016 को एवं स्व. खुशबू का 17 सितबंर 2019 को पानी में डुबने से हुई मृत्यु के लिए उनके परिजनों के लिए क्रमशः 4-4 लाख रूपए की आर्थिक सहायता राशि स्वीकृत की गई है।

बांस शिल्प रोजगार रास्ता

रायपुर, 01 जुलाई 2009 - छत्तीसगढ़ में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा संचालित गरीबी उन्मूलन परियोजना 'नवा अंजोर' की सहायता से महासमुंद जिले के आदिवासी बहुल गांव वनसिवनी की महिलाओं ने समहित समूह बनाकर बांस शिल्प से रोजगार का रास्ता खोज लिया है।