गोधन एप्प में सभी जानकारियां नियमित ऑनलाइन एंट्री सुनिश्चित कराएं: कलेक्टर संजीव कुमार झा

योजनाओं के क्रियान्वयन में प्रगति लाने कलेक्टर ने ली मैदानी अमलो की मैराथन बैठक
ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी को कारण बताओ नोटिस

अम्बिकापुर 13 सितंबर 2021: कलेक्टर संजीव कुमार झा ने योजनाओं के क्रियान्वयन में प्रगति लाने  सोमवार को जिला पंचायत सभाकक्ष में कृषि एवं उद्यान विभाग के जिला अधिकारियों के साथ विकासखण्ड स्तर के मैदानी अमलों की बैठक ली। करीब 4 घंटे चली मैराथन बैठक में कलेक्टर ने गोधन न्याय योजना, मॉडल गोठान, राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना तथा गोठानों में संचालित गतिविधियों की विस्तार से समीक्षा की। बैठक में समीक्षा के दौरान वर्मी खाद निर्माण में लापरवाही बरतने के कारण बतौली जनपद के ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए ।
   कलेक्टर श्री झा ने जिले के सभी चिन्हांकित आदर्श गोठान में चल रहे आयमूलक गतिविधियों, गोठान में गोबर खरीदी, वर्मी खाद निर्माण, नेपियर घास, फेंसिंग, वृक्षारोपण, रीपा आदि के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने सभी गोठानों मे वर्मी टांका भराई तथा वर्मी खाद विक्रय के बारे में सभी जनपद सीईओ, एसएडीओ को मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने इन सभी घटकों  का गोधन न्याय योजना एप्प में नियमित ऑनलाइन एंट्री सुनिश्चित कराने तथा प्रतिदिन के गोबर खरीदी की जानकारी अद्यतन कराने कहा। उन्होंने  वर्मी खाद निर्माण को गंभीरतापूर्वक लेते हुए कृषि विभाग के उप संचालक श्री एमआर भगत को गोधन न्याय योजना में लापरवाही बरतने वाले अधिकरी- कर्मचारियों को कारण बताओ सूचना जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि शासन की महत्वाकांक्षी योजनाओ पर किसी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नही की जाएगी।
     कलेक्टर ने उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों से बाड़ी विकास के कार्यों के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि बाड़ी के माध्यम से समूह को प्रतिदिन एक निश्चित आय होना चाहिए। इसके लिये बाड़ी में मल्टीलेयर फार्मिंग करें। सभी गोठानों को ड्रिप सिंचाई के लिए पहले से ही संसाधन उपलब्ध करा दिया गया है। इन संसाधनों का उपयोग करते हुए बाड़ी विकास को मजबूत करें। उन्होंने कहा कि नर्सरी में ऐसे पौधे तैयार करें जिसकी कमर्शियल वैल्यू हो। इसके लिए कार्ययोजना तैयार करे ताकि आत्मनिर्भर गोठान के रूप में विकसित हो सकें।
     कलेक्टर ने राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर योजना के तहत मजदूरों के पंजीयन की समीक्षा करते हुए कहा कि ज्यादा से ज्यादा इस योजना का प्रचार-प्रसार करें। सभी जनपद मुख्यालय तथा तहसील मुख्यालय में फ्लेक्स, बैनर के माध्यम से लोगों को योजना के बारे में जागरूक करें। भूमिहीन कृषि मजदूरों का पंजीयन 1 सितंबर से ग्राम स्तर पर किया जा रहा है जो 30 नवम्बर 2021 तक चलेगा। आवेदन प्राप्त होने पर उसे तहसील कार्यालय में जनपद के माध्यम से भेजा जाएगा। इसके पश्चात उसका सत्यापन कार्य तहसीलदार तथा नायब तहसीलदार के द्वारा किया जाएगा।
   बैठक में जिला पंचायत के प्रभारी सीईओ श्री यशपाल प्रेक्षा, उप संचालक कृषि श्री एमआर भगत, उप संचालक उद्यान श्री केएस पैकरा, जनपद सीईओ, एस.ए.डी.ओ, डीपीएम, बीपीएम, सहित उद्यानिकी एवं कृषि विभाग के अधिकारी तथा कर्मचारी उपस्थित थे।