दुर्ग माइल्डस्टोन स्कूल 5वीं छात्र लिवजोत सिंह 10वीं बोर्ड परीक्षा देंगे

विलक्षण प्रतिभा के धनी लिवजोत सिंह को आईक्यू टेस्ट के आधार पर मिली सीधे 10वीं बोर्ड की परीक्षा की अनुमति

रायपुर, छत्तीसगढ़, भारत, सोमवार, 01 फरवरी 2021:

वर्तमान में दुर्ग के माइल्डस्टोन स्कूल की कक्षा 5वीं में अध्ययनरत छात्र लिवजोत सिंह अरोरा पिता गुरविंदर सिंह अरोरा माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा इस वर्ष आयोजित होने वाली कक्षा 10वीं बोर्ड की परीक्षा देगा। महज 11 वर्ष 4 माह के इस छात्र को आईक्यू टेस्ट के आधार पर बोर्ड परीक्षा में बैठने की अनुमति प्रदान की गई है। अस्पताल में जांच के आधार पर उसका आईक्यू 16 वर्ष की उम्र के बराबर है। छत्तीसगढ़ राज्य के इतिहास में संभवतः यह पहला मामला है, जब बारह वर्ष से कम उम्र के किसी बच्चे को 10वीं बोर्ड की परीक्षा में बैठने का मौका दिया जा रहा है। 
    गौरतलब है कि बुद्धिलब्धि या इंटेलिजेस कोशेंट (आईक्यू) कई अलग मानकीकृत परीक्षणों से प्राप्त एक गणना है जिससे बुद्धि का आंकलन किया जाता है।
    छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल के सचिव प्रो. व्ही.के. गोयल से प्राप्त जानकारी के अनुसार छात्र लिवजोत सिंह अरोरा में शैक्षणिक सत्र 2020-21 में कक्षा 10वीं की परीक्षा में बैठने की अनुमति के लिए मंडल कार्यालय में आवेदन प्रस्तुत किया था। वर्तमान में छात्र दुर्ग के माइल्डस्टोन स्कूल की कक्षा 5वीं में अध्ययनरत है। छात्र का शासकीय जिला अस्पताल दुर्ग से आईक्यू टेस्ट करवाया गया, जिसकी रिपोर्ट अनुसार छात्र का आईक्यू 16 वर्ष की उम्र के बराबर है। आईक्यू टेस्ट के आधार पर छात्र कक्षा 10वीं बोर्ड की परीक्षा में सम्मिलित होना चाहता है। छात्र का आवेदन मंडल की परीक्षा और परीक्षाफल समिति में निर्णय हेतु प्रस्तुत किया गया। समिति के सदस्यों द्वारा विचार-विमर्श करने के बाद विशेष प्रकरण मानकर छात्र लिवजोत सिंह अरोरा को वर्ष 2020-21 की कक्षा 10वीं की बोर्ड परीक्षा में सम्मिलित करने का निर्णय लिया गया। समिति के निर्णय अनुसार छात्र को कक्षा 10वीं की बोर्ड परीक्षा में बैठने की अनुमति प्रदान की गई है।