बरौदा: मड़ई मेला से हो रहा छत्तीसगढ़ की संस्कृति को आगे बढ़ाने का काम

मड़ई मेला से हो रहा छत्तीसगढ़ की संस्कृति को आगे बढ़ाने का काम: मंत्री डॉ. डहरिया
नगरीय प्रशासन मंत्री ने बरौदा में गौठान सहित अनेक कार्यों का किया लोकार्पण एवं भूमिपूजन

रायपुर 12 फरवरी 2021

नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने ग्राम बरौदा में ठोस तरल अपशिष्ट प्रबंधक और धान उपार्जन केंद्र में चबूतरा और गांव में बनने वाले गौठान का भूमिपूजन भी किया। इस दौरान गांव में आयोजित मड़ई मेला में भी वे शामिल हुए। मंत्री डॉ. डहरिया ने इस अवसर पर कहा कि नवा रायपुर से लगे ग्राम बरौदा की पहचान लगातार बढ़ती जा रही है। सरकार के साथ मिलकर गांव के लोगों और जनप्रतिनिधियों ने बरौदा को आदर्श ग्राम के रूप  में  स्थापित किया है। उन्होंने कहा कि विकास कार्यों के लिए राज्य की सरकार सदैव सबके साथ है। गांव में गौठान बनने से होने वाले फायदे का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य सरकार गौ-पालकों से दो रुपए किलों की दर से गोबर खरीद रही है। किसानों को लाभान्वित करने सरकार द्वारा अनेक कदम उठाए गए हैं। इससे किसानों में आर्थिक समृद्धि आएगी।

बरौदा में आयोजित मड़ई मेला में उन्होंने कहा कि मड़ई मेला के माध्यम से छत्तीसगढ़ की संस्कृति को सहेजने का काम हो रहा है। राज्य की सरकार भी छत्तीसगढ़ की संस्कृति, परम्परा को आगे बढ़ाने का काम कर रही है। छत्तीसगढ़ी संस्कृति को बढ़ावा देने के साथ यहा के तीज-त्यौहारों में शासकीय अवकाश देने की शुरूआत की गई है। नौकरी में भी स्थानीय लोगों को अवसर दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गांव में मड़ई मेला खुशियों का त्यौहार है। गांव के लोग आपसी-भाईचारें के बीच इस मेले को आयोजित कर मनाते हैं। इस तरह का आयोजन गांव में होता रहे और आप सभी सुख-शांति से सद्भावनापूर्वक रहे यहीं कामना है।
     उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में प्रदेश में विकास के कार्य किए जा रहे हैं। बिजली बिल भी हाफ किया गया है। स्थानीय बेरोजगारों की भर्ती भी शुरू कर दी गई है। सभा में जिला पंचायत सदस्य श्री माखन कुर्रे, जनपद अध्यक्ष श्री खिलेश देवांगन, जनपद सदस्य श्रीमती मधु विकास टण्डन, सरपंच श्रीमती सीमा रहिस बांधे, कोमल साहू सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं ग्रामीणजन उपस्थित थे।

हिन्दी