बस्तर जगदलपुर महारानी अस्पताल न्यूज़ चित्र: कायाकल्प, रूद्र गुरू स्वेच्छानुदान, 16 लाख आर्थिक सहायता एवं एकरूपए में घर-पहुँच पौधे

जगदलपुर : लोगों को सुलभ स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने का प्रमुख केन्द्र बना महारानी अस्पताल : सर्वसुविधायुक्त भवन, विशेषज्ञ चिकित्सकों की नियुक्ति तथा जरूरी सामाग्रियों की उपलब्धता से अस्पताल का हुआ कायाकल्प

जगदलपुर 19 जून 2020 बस्तर संभाग तथा जगदलपुर शहर के सबसे पुराने शासकीय चिकित्सालय महारानी अस्पताल शुरू से ही अंचल के लोगों को सस्ता एवं सुलभ स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने का प्रमुख केन्द्र रहा है। लेकिन राज्य सरकार के विशेष प्रयासों तथा समय के साथ इस अस्पताल में सुविधाओं के विस्तार होने से यह अस्पताल छत्तीसगढ़ एवं बस्तर संभाग के लोगों को सुलभ एवं कारगर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने का प्रमुख केन्द्र बन गया है। राज्य शासन के मंशा अनुरूप वर्तमान में इस अस्पताल में सर्वसुविधायुक्त भवन, विशेषज्ञ चिकित्सकों की नियुक्ति तथा यहां आने वाले मरीजों को रियातदर पर दवाईयां एवं अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराने की दृष्टि से जरूरी दवाईयां तथा उपकरण एवं अन्य सामाग्री की समुचित उपलब्धता के कारण यह अस्पताल अंचल का प्रमुख चिकित्सा केन्द्र बन गया है। इस अस्पताल में विशेषज्ञ चिकित्सकों की नियुक्ति से गंभीर बीमारियों के ईलाज होने के साथ-साथ सर्वसुविधायुक्त अस्पताल परिसर के निर्माण होने के कारण मरीजों को अस्पताल में अनुकूल परिवेश भी मिल रहा है। विदित हो कि लोगों को सस्ती, सुलभ एवं कारगर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करना छत्तीसगढ़ सरकार एवं मुख्यंमत्री श्री भूपेश बघेल के विशेष प्राथमिकता में शामिल है। खास करके आदिवासी अंचलों तथा सुदूर एवं वनांचल क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुवधिाओं का विस्तार कर वहां के निवासियों को कारगर चिकित्सा सुविधा प्रदान करना छत्तीसगढ़ सरकार की पहली प्राथमिकता है। इसी सोच एवं मंशा के अनुरूप राज्य सरकार द्वारा राज्य के अन्य शासकीय चिकित्सालयों के साथ-साथ महारानी अस्पताल जगदलपुर को भी कायाकल्प करने का अभिनव प्रयास किया गया है। 

महारानी अस्पताल जगदलपुर में मानवीय संशाधनों तथा जरूरी सामाग्रियों की समुचित उपलब्धता के साथ-साथ अधोसंरचना से जुड़े कार्यों के अन्तर्गत किए गए कार्यों की श्रृखला में 23 नवम्बर 2019 को आयुर्वेद चिकित्सा के लिए सुश्रृत एवं धन्वतरी भवन का उद्घाटन किया गया। जिसके माध्यम से लोगों को आयुर्वेद चिकित्सा का लाभ भी आसानी से मिल रहा है। धन्वतरी भवन में बाह्य रोगी विभाग के अलावा सुश्रृत भवन में 24 घंटे आपातकालीन चिकित्सा सेवाएं, डिजिटल एक्सरे, सोनाग्राफी, गहन चिकित्सा ईकाई, माड्युलर एवं सेमी माड्युलर, आॅपरेशन थियेटर में अस्थि एवं शल्य रोग चिकित्सा सुविधाएं लोगों को आसानी से मिल रही है। ज्ञातव्य हो कि राज्य शासन के मंशा अनुरूप अस्पताल परिसर में धन्वतरी एवं सुश्रृत दोनों भवनों के व्यवस्थित संचालन हेतु जिला खनिज संस्थान न्यास से विशेषज्ञ चिकित्सकों तथा स्टाॅप नर्स, पैरा मिडिकल व प्रबंधकीय स्टाॅप की नियुक्ति भी जिला प्रशासन द्वारा किया गया है। 

अस्पताल के जीर्णोद्धार के कार्य योजना के द्वितीय चरण में महारानी ब्लाॅक एवं गुण्डाधूर ब्लाॅक का भी उद्घाटन किया गया। इस भवन में नाक, कान, गला, आयुष चिकित्सा, फिजियोथेरेपी, योगा एवं प्रशिक्षण हेतु आडिटोरियम का भी निर्माण किया गया है। वर्तमान में इस अस्पताल में 25 विशेषज्ञ चिकित्सक, 8 चिकित्सा अधिकारी, 90 स्टाॅप नर्स, 20 लैब टेक्नीशियन एवं अन्य स्टाॅप कार्यरत है। इस अस्पताल के सभी सुविधाओं से सुसज्जित होने के फलस्वरूप वर्तमान में अस्पताल के बाहय रोगी विभाग में प्रतिदिन आने वाले मरीजों की संख्या में आश्चर्यजनक वृद्धि हुई है। वर्तमान में प्रतिदिन 450 से 600 तक मरीज बाहय रोगी विभाग में आ रहे हैं। मरीजों को आपातकालीन सेवाएं प्रदान करने के लिए अस्पताल का अमला पूरे समय मुस्तैद रहता है। वर्तमान में इस अस्पताल में वेटीलेटर, माॅनीटर, डिजिटल एक्सरे मशीन आदि शल्य चिकित्सा के कई आधुनिक उपकरण उपलब्ध है। इस प्रकार से राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन द्वारा इस अस्पताल को सुर्वसुविधायुक्त बनाने से यह अस्पताल बस्तर एवं छत्तीसगढ़ राज्य के प्रमुख चिकित्सा संस्थान के रूप स्थापित होकर वनांचल तथा सम्पूर्णं बस्तर संभाग के लोगों के लिए जीवन रेखा बन गया है। 

जगदलपुर : लोक स्वास्थ्य मंत्री श्री रूद्र कुमार गुरू ने की बस्तर विकासखण्ड के लिए 4 लाख 48 हजार रूपए स्वेच्छानुदान स्वीकृत

जगदलपुर 19 जून 2020 प्रदेश के लोक स्वास्थ्य एवं यांत्रिकी एवं ग्रामोद्योग मं़त्री श्री रूद्र कुमार गुरू ने स्वेच्छानुदान मद अन्तर्गत स्वीकृत कुल 37 लाख 14 हजार रूपए में से जिले के बस्तर विकासखण्ड के हितग्राहियों के लिए 4 लाख 48 हजार रूपए की स्वेच्छानुदान राशि स्वीकृत किया है। मंत्री श्री गुरू द्वारा बस्तर विकासखण्ड के कुल 54 जरूरतमंद हितग्राहियों के लिए शिक्षा एवं ईलाज हेतु स्वेछानुदान की राशि स्वीकृत की गई है। स्वेच्छानुदान की इस राशि को तहसीलदार बस्तर द्वारा हितग्राहियों को वितरित किया जाएगा। 

जगदलपुर : चार परिवार को राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 के तहत् 16 लाख रूपए की आर्थिक सहायता राशि स्वीकृत

जगदलपुर, 19 जून 2020 कार्यालय कलेक्टर राजस्व शाखा द्वारा प्राकृतिक आपदाओं और दुर्घटनाओं से पीड़ित चार परिवार को  राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 के तहत् आर्थिक सहायता  राशि 16 लाख रूपए स्वीकृत की गई है। आर्थिक सहायता प्राप्त करने वाले में तहसील बस्तर के ग्राम राजपुर निवासी श्रीमती बुदन्ती कश्यप को उनके पति मिठिर का नारंगी नदी में डूबने से मृत्यु उपरांत दिया गया। ग्राम सालेमेटा के श्रीमती सेमली बघेल को पति बालोराम और तहसील बकावण्ड ग्राम छोटेदेवड़ा निवासी श्रीमती गुरबारी को पति कमलू बघेल की नाला के पानी में डूबने से हुई मृत्यु उपरांत दिया गया है। उसी प्रकार तहसील बकावण्ड के ग्राम कोलावल निवासी श्रीमती हीराबाई को पति घीनुराम भारती की सांप काटने से हुई मृत्यु उपरांत आरबीसी 6-4 के तहत् प्रत्येक को 4-4 लाख रूपए की आर्थिक सहायता राशि दी गई।

जगदलपुर : एक रूपए की दर से पौधे घर पर पहुंचाएं जाएंगे वन विभाग द्वारा : विभाग ने किया संपर्क नंबर जारी

जगदलपुर, 19 जून 2020   इस वर्ष वर्षा ऋतु में वन विभाग द्वारा वन एवं वनोत्तर क्षेत्रों में पौधा रोपण की तैयारी वृहद स्तर पर की जा रही है। वन क्षेत्रों में विभिन्न योजनाओं के अतिरिक्त मुख्यमंत्री के मंशा अनुरूप वन क्षेत्र के बाहर लगभग 23 लाख पौधों का रोपण सड़क किनारे, आवर्ती चराई योजना के केन्द्रों एवं गौठान के भीतर, स्कूल, आश्रम, छात्रावास आंगनबाड़ी एवं हरियाली प्रसार के अंतर्गत किसानों के खेतों एवं बाड़ियों में किया जाएगा।

         जगदलपुर वन वृत्त के मुख्य वन संरक्षक से प्राप्त जानकारी के अनुसार जगदलपुर, सुकमा, बीजापुर और दंतेवाड़ा वन मंडलों के अंतर्गत गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी 25 जून से जिला मुख्यालयों में शासकीय वाहन के माध्यम से सामाजिक वानिकी वनमण्डल जगदलपुर के वनमण्डलाधिकारी श्री डी.के. मेहर 9753919000-7587016600, परिक्षेत्र अधिकारी श्री उमेश सिंह 9425262616-7587016601,सुकमा के प्रभारी वनमण्डलाधिकारी श्री संदीप बलगा के 7587016100-891970647, उप वनमण्डलाधिकारी श्री टीआर मरई 9425599900,7587016210, परिक्षेत्र अधिकारी श्री अशोक कुमार त्रिपाठी 9424981771-9424260662, बीजापुर के प्रभारी वनमण्डलाधिकारी श्री डीके साहू 8770813090, उप वनमण्डलाधिकारी श्री पीएनआर नायडू 9406292155-8305522662, परिक्षेत्र अधिकारी श्री दीनानाथ गोसाई 8770438425, 9691121579 तथा दन्तेवाड़ा के उप वनमण्डलाधिकारी श्री मोहन सिंह नायक 9425258328-9009858328 और परिक्षेत्र अधिकारी श्री प्रकाश ठाकुर 9407642841 के मोबाइल नंबरों पर संपर्क करने पर 01 रूपए प्रति नग की दर से वन विभाग के द्वारा संबंधित को घर पहुंचा कर पौधे उपलब्ध कराया जाएगा। 

      जगदलपुर वन वृत्त के मुख्य वन संरक्षक ने बताया कि जगदलपुर वन वृत्त के वन मंडलों के अंतर्गत शासकीय स्कूलों, छात्रावास, हाॅस्टल एवं आंगनबाड़ी कैम्पस में 6 जुलाई 2020 को ’’मुनगा महाअभियान’’ के अंतर्गत 5 से 10 मुनगा के पौधों का रोपण जनप्रतिनिधियों, स्कूल छात्रावास के षिक्षकों, विद्यार्थियों एवं विभागीय कर्मचारियों की उपस्थिति में किया जाएगा, जिससे छात्र-छात्राओं को अच्छी सब्जी मिल सके और पौधों की सुरक्षा स्कूल, हाॅस्टल एवं आंगनबाड़ी के प्रभारियों द्वारा की जाएगी। ’’मुनगा महाअभियान’’ कार्य योजना तैयार करने हेतु समस्त वनमंडलाधिकारियों को निर्देशित किया गया है। जगदलपुर  वन वृत्त के वन मंडलों के अंतर्गत गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी 11 जुलाई 2020 को वृहद पैमाने पर वन एवं वनोत्तर क्षेत्रों में फलदार एवं सब्जी प्रजाति के बीजों की, स्थानीय की, स्थानीय लोगों, जनप्रतिनिधियों एवं कर्मचारियों-अधिकारियों के सहयोग से बुआई-सीडबाॅल रोपण का कार्य फेंसिगयुक्त वन क्षेत्रों एवं सुरक्षित बाड़ियों में किया जाएगा। इसकी व्यापक रूप से तैयारी की जा रही है।

महारानी अस्पताल न्यूज़ चित्र, बस्तर न्यूज और जगदलपुर न्यूज आपके लिए न केवल समाचार है अपितु बहुतों के लिए बिज़नेस से लेकर और कई मौकों की जानकारी भी है. जगदलपुर का हो रहा कायाकल्प, न्यूज पढ़िए और अपने विचार कमेंट जरूर करें।