भूपेश सरकार ने साहित्यकारों और कलाकारों के पेंशन हेतु निर्धारित आय सीमा में पांच गुना वृद्धि

चिन्हारी पंजीकृत साहित्यकारों और कलाकारों के पेंशन के लिए आय सीमा में पांच गुना वृद्धि
राज्य सरकार ने प्रदेश के आर्थिक रूप से कमजोर साहित्यकारों और कलाकारों के हितों को ध्यान में रखते हुए के लिए निर्धारित आय सीमा में पांच गुना तक की वृद्धि की है। इससे अब ख्यातिप्राप्त व आर्थिक रूप से कमजोर कलाकारों और साहित्यकारों को इसका लाभ मिलेगा। 

रायपुर, 23 सितंबर 2021: संस्कृति विभाग द्वारा प्रदेश के ख्यातिप्राप्त और आर्थिक रूप से कमजोर साहित्यकारों और कलाकारों को 60 वर्ष अथवा अधिक की आयु के कलाकारों-साहित्यकारों को पेंशन योजना 2007 के तहत आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। 

योजना के तहत साहित्यकारों और कलाकारों जिनकी आयु 60 वर्ष से अधिक एवं वार्षिक आय परिवार के अकेले सदस्य के लिए 14 हजार 400, दो सदस्यों के लिए 18 हजार रूपए तथा तीन या तीन से अधिक सदस्यों के लिए 24 हजार रूपए होना निर्धारित था। अब 10 सितम्बर 2021 को छत्तीसगढ़ राजपत्र में प्रकाशन के बाद प्रदेश के साहित्यकारों और कलाकारों की वार्षिक आय सीमा परिवार के अकेले सदस्य के लिए 72 हजार रूपए, दो सदस्यों के लिए एक लाख 44 हजार रूपए और तीन या तीन से अधिक सदस्यों के लिए 2 लाख 16 हजार रूपए तक बढ़ा दी गई है। योजना के तहत चिन्हारी में पंजीकृत साहित्यकार और कलाकार लाभान्वित होंगे।