सरकार को फिक्र है खेती-किसानी-बागवानी और छत्तीसगढ़ के किसानों की: खरीफ फसलों की बोनी पूरी

साल2017 की अच्छी बारिश के बीच खेतिहर अपने काम में लग गए हैं और छत्तीसगढ़ की सरकार भी उनके पीछे खेती की फिक्र में अपनी जरुरी सलाह जारी करना प्रारंभ कर चुकी है. खेती किसानी के लिए सबसे अच्छा उपाय है सरकारी सलाहों पर लगातार ध्यान दिया जाए और अमल किया जाए. आइए देखते डॉक्टर रमन सिंह  की नीतियों के अनुरूप सरकारी तंत्र आपको कृषि सलाह में क्या बता रहे हैं.

खरीफ कृषि आदान व्यवस्था बारिश पूर्व समीक्षा

खेती किसानी मानसून पर सरकारी तैय्यारी - सोसायटी स्तर पर बारिश के पहले सुनिश्चित करें खाद-बीज का पर्याप्त भण्डारण : डॉ. रमन सिंह

स्वाइल हेल्थ कार्ड की अनुशंसा के अनुसार हो उर्वरकों का उपयोग

किसानों को शून्य ब्याज दर पर अब तक वितरित किया गया 1407 करोड़ रूपए का अल्पकालीन कृषि ऋण 

मुख्यमंत्री ने की खरीफ कृषि आदान व्यवस्था की समीक्षा 

नारायणपुर में खुलेगा नवीन कृषि महाविद्यालय और राजनांदगांव में नवीन वेटनरी पॉलिटेक्निक 

प्रधानमंत्री कृषि बीमा योजना में कुल कृषि क्षेत्र का 49 प्रतिशत क्षेत्र शामिल

खरीफ मौसम 2017 के लिए कार्ययोजना

छत्तीसगढ़ में इस बार के मानसून के दौरान 48 लाख हेक्टेयर में खेती करने का लक्ष्य : खरीफ मौसम 2017 के लिए कार्ययोजना तैयार
रायपुर, 30 मई 2017 - राज्य शासन के कृषि विभाग द्वारा खरीफ मौसम 2017 के लिए व्यापक कार्ययोजना बनाई गई है। इसमें विभिन्न फसलों की बोआई के साथ-साथ खाद-बीज के वितरण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

छत्तीसगढ़ में धान तथा मक्का खरीफ खरीदी

धान और मक्का खरीदी कार्यों के लिए निगरानी दल गठित, सभी जिलों का दौरा करने के निर्देश

निगरानी दलों में शामिल अधिकारियों के मोबाइल फोन नम्बर भी सार्वजनिक किए गए